अपहरण गणगौर

अपहरण गणगौर राजस्थान का बड़ा ही रसवंती त्यौहार है। यहां के निवासियों में इन दिनों जितने इन्द्रधनुषी रंग विविध रूप चटखारे लिये देखे जाते हैं उनने अन्य किसी न्योहार पर देखने को नहीं मिलेंगे| राजस्थानी गोरिया जहां अपने अटल सुहाग और अमर बड़े के लिये गणगौर की बडी भक्ति-भावना से पूजा प्रतिष्ठा करती हैं वहां छोरिया होला के दृसंर दिन से ही मनवाछित वर प्राप्ति के लिये गवरल माता की पूजा-आराधाना जाती है।

Please join our telegram group for more such stories and updates.telegram channel

Books related to अपहरण गणगौर


टोबा टेक सिंग
अंगारों पर नृत्य
सांस पीने वाला सांप
मंगलसूत्र
अजूबा भारत
दीपावली
गिरनार का रहस्य
लोकदेव ईलोजी
अपहरण गणगौर
प्रेम रस मेंहदी का
पड़ की नक्षी में सतीत्व परीक्षा