आम्बेडकर को एक अर्थशास्त्री के तौर पर प्रशिक्षित किया गया था, और 1921 तक एक पेशेवर अर्थशास्त्री बन चूके थे। जब वह एक राजनीतिक नेता बन गए तो उन्होंने अर्थशास्त्र पर तीन विद्वत्वापूर्ण पुस्तकें लिखीं:

अ‍ॅडमिनिस्ट्रेशन अँड फायनान्स ऑफ दी इस्ट इंडिया कंपनी
द इव्हॅल्युएशन ऑफ प्रॉव्हिन्शियल फायनान्स इन् ब्रिटिश इंडिआ
द प्रॉब्लम ऑफ द रूपी : इट्स ओरिजिन ॲन्ड इट्स सोल्युशन

भारतीय रिज़र्व बैंक (आरबीआई), आम्बेडकर के विचारों पर आधारित था, जो उन्होंने हिल्टन यंग कमिशन को प्रस्तुत किये थे।

Please join our telegram group for more such stories and updates.telegram channel

Books related to भीमराव आम्बेडकर


संभाजी महाराज - चरित्र (Chava)
सावित्रीबाई फुले
सावित्रीबाई फुले मराठी भाषण
बाबासाहेब अांबेडकर
गुरूचरित्र
स्वप्न आणि सत्य
इस्लामी संस्कृति
गांवाकडच्या गोष्टी
महाराष्ट्राचे शिल्पकार
मराठी बोधकथा  5
जातक कथासंग्रह
आस्तिक
श्यामची आई
बोध कथा
बाळशास्त्री जांभेकर